Top 10 Most Dangerous Virus in the World 2021 – Covid-19, Deadliest Viruses.

दुनिया के 10 सबसे खतरनाक वायरस (Deadliest Viruses) 2021: Top 10 Most Dangerous Virus in the World. Hello फ्रेंड्स, आज के हमारे इस टॉप 10 में हम आपको दुनिया के मोस्ट डेंजरस वायरस (World most dangerous virus) के बारे में बताने वाले है। 

जैसे कि आपको पता है कि किसी भी वायरस का वायरल बोहोत जल्दी हो जाता है। ज्यादा तर ये हवा में या वायरल इंसान को छूने से ज्यादा फैलता है। कोई भी वायरस काफी खतरनाक हो सकता है। इसलिए दोस्तो हमे अपना ध्यान रखना है। ये 10 वायरस (Top 10 viruses) काफी खतरनाक है इतने की इसमे इंसान की जान भी जा सकती है, अगर इसे हमने इग्नोर किया तो।

इसलिए दोस्तो हमे ज्यादा से ज्यादा खयाल रखना है की अपने हाथों को हमेशा क्लीन रखो। चलो तो दोस्तो जानते है ये टॉप 10 वायरस (Top 10 viruses) कौन से है।

Most Dangerous Virus in the World 2021 - Covid-19, Deadliest Viruses

10 Most Dangerous Virus in the World 2021- List of viruses

What are the deadliest viruses? Harmful viruses Names.

यह भी पढ़े:  Top 10 CBSE Schools in India 2021 | इंडिया के टॉप १० स्कूल | Best CBSE Schools

मारबर्ग – Marburg virus

मारबर्ग ये वायरस काफी खतरनाक है। ये वायरस एक रक्तस्रावी बुखारी वायरस है। इबोली की तरह मारबर्ग त्वचा और अंगों के आक्षेप और रक्तस्राव का कारण बनता है। इस वायरस में 90 प्रतिशत लोगो की मृत्यु हो जाती है। ये बोहोत जल्दी वायरल हो जाता है। इसका नाम लाहन नदी के एक छोटे शहर पर रख गया था। लेकिन इसका इस वायरस से कोई लेना देना नही है।

इबोला – Ebola virus

एबोला ये सबसे घातक वायरस है। जिसकी मृत्यु 90 प्रतिशत होती है। वैज्ञानिकों का ये कहना है कि फ्लाइंग फॉक्स शहर में एबोला वायरस लाये है। ये वर्तमान में गिनी लिबेरिया के आगे तक फैला हुआ था। ये वाइरस काफी जानलेवा भी है। इस वायरस के 5 उपभेद है। इसके नाम अफ्रीका और देशो के क्षेत्र के नाम पर रख गया है।

हंटावायरस – Hantavirus

हंटावायरस का नाम एक नदी के नाम पर रखा गया है। अमेरिकी सैनिको ने 1950 में कोरियाई युद्ध के दौरान इस हंटावायरस को संक्रमित होने के बारे में सोचा था। इसके लक्षणों में फेफड़े की बीमारी, बुखार और घुटनों का दर्द शामिल है। इसमें कही ज्यादा लोगो की मृत्यु भी हो चुकी है।

What are the deadliest viruses, Harmful viruses Names, Most Dangerous Virus in the World 2021

बर्डफ्लू – Bird flu

बर्डफ्लू में एक अनियमित रूप से घबराहट होती है। इस वायरस के कही सारे प्रकार भी हैं। इसमे 70 प्रतिशत मृत्यु होती है। लेकिन वास्तव में H5N1 तनाव को अनुबंधित करने का जोखिम – सबसे अच्छा ज्ञात में से एक – काफी कम है।  आप इसे अक्सर ज्यादा ऐशियाई में पाया जाता है क्यों कि इस ईस के लोग मुर्गी के पास ही रहते है।

यह भी पढ़े:  Top 10 Beautiful Tv Actress In India In Hindi | ब्यूटीफुल टीवी एक्ट्रेस इन इंडिया 2021

कोविड-19 – Covid-19 (Coronavirus)

कोरोनावायरस (Coronavirus) कई प्रकार के विषाणुओं (Virus) का एक समूह है जो स्तनधारियों (Mammals) और (पक्षियों Birds) में रोग उत्पन्न करता है। यह आरएनए वायरस होते हैं। इनके कारण मानवों में श्वास तंत्र संक्रमण पैदा हो सकता है जिसके फस्वरूप परिणाम कि सीमा हल्की (जैसे सर्दी-जुकाम) से लेकर अति गम्भीर (जैसे, मृत्यु) तक हो सकती है। 2019 में दुनियां भर में फैलने वाला यह वायरस अभी वापस से कई देशों में में अपना प्रकोप दिखा रहा है। भारत में पिछले महीने से कोविड -19 के मामलों में अत्याधिक उछाल आया है। आपसे अनुरोध है कि अपना और अपनी फैमिली का खास खयाल रखें।

कोविड-19 - Covid-19 (Coronavirus), Top 10 Most Dangerous Virus in the World 2021

लसा – Lassa virus

लसा वायरस से नाइजीरिया की एक नर्स संक्रमित होने वाली पहली व्यक्ति थी। पश्चिमी अफ्रीका में, और किसी भी समय वहां फिर से मिल सकता है। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि पश्चिमी अफ्रीका में 15 प्रतिशत कृन्तकों में वायरस होता है। इसमे 80 प्रतिशत लोगो के मृत्यु का कारण ही ये लसा वायरस है। ये वायरस कृन्तको द्वारा प्रेषित होता है।

जूनिन – Junín virus

इस वायरस से ऊतक सूजन त्वचा से खून बहने की समस्या होती है। इस वायरस के लक्षण इतने आसानी से ध्यान में आते है की पहली बार देखने के बाद ही इस बीमारी का पता लग जाता है। जूनिन वायरस ज्यादा तर बुखार के साथ जुड़ा होता है।

यह भी पढ़े:  Top 10 Hospitals in India 2021 [ Hindi] | भारत में 10 सबसे Best अस्पताल।

क्रीमिया कांगो – Crimea virus

क्रीमिया कांगो (Crimea Congo) वायरस बुखार टीको द्वारा फैलता है। ये वायरस इबोला और मारबर्ग समान होता है। संक्रमण के पहले दिनों के दौरान, चेहरे, मुंह और ग्रसनी में पिन-आकार के रक्तस्राव के साथ मौजूद होता है। इस वायरस में 90 प्रतिशत लोगी में मृत्यु  होता है।

माचुपा वायरस – Machupo virus

माचुपा वायरस रक्तस्रावी बुखार से जुड़ा है। इसे काले टैफल के रूप में भी जाना जाता है। इस वायरस से तेज बुखार होता है। ये वायरस जूनिन वायरस के समान है। ये वायरस एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य तक फैलता है। कृन्तक हमेशा इसे ले जाते है। इस वायरस की फैलने की आशंका ज्यादा होती है।

कयासनूर फॉरेस्ट – Kyasanur forest disease

भारत मे वैज्ञानिकों ने 1955 में दक्षिण पश्चिमी तट पर वुडलैंडस में कयासनूर फॉरेस्ट वायरस की खोज की थी। इस वायरस से संक्रमित बुखार मासपेशियां में दर्द और सिरदर्द से पीड़ित होते है। यह माना जाता है कि चूहे, पक्षी और सूअर मेजबान हो सकते हैं।

Leave a Reply